Database vs File Based System In Hindi?

What Is Database In Hindi?

Database जानकारी(Data) का एक संग्रह है | Database में जानकारियों को इस प्रकार से इकट्ठा किया जाता है कि जानकारियों को बड़ी आसानी से संभाला जा सके और जरूरत पड़ने पर किसी भी जानकारी को बड़ी आसानी से प्राप्त किया जा सके | उदाहरण के लिए किसी स्कूल में पढ़ने वाले सभी विद्यार्थियों की जानकारी को Student Database (स्टूडेंट डाटाबेस) के अंदर इकट्ठा करके रखा जा सकता है जिसमें की विद्यार्थियों का नाम पता कक्षा रोल नंबर इत्यादि से संबंधित जानकारियां हो सकती है|

What is File Based System In Hindi ?

File Based System :- मतलब कि इस फाइल आधारित सिस्टम Data को कंप्यूटर में संग्रहित करने का सबसे पहला और पुराना तरीका था | File Based System में डेटा के समूह को एक गुच्छे की तरह से फाइल में संग्रहित किया जाता था | लेकिन | File Based System की कई सारी कमियां थी जैसे कि | File Based System में डेटा को जमा करने का कोई organizing structure मतलब की व्यवस्थित संरचना थी |

साधारण शब्दों में कहें तो File Based System में डेटा को फाइल के अंदर जमा करने पर ध्यान दिया जाता था डाटा किस प्रकार से जमा होगा इसके बारे में कोई व्यवस्थित तरीका नहीं था इसी कारण फाइल आधारित सिस्टम में कई सारी कमियां पैदा हो गई थी |

File Based System (फाइल आधारित सिस्टम ) की कुछ समस्याए निम्नलिखित है :-

Data Redundancy :- Data Redundancy का मतलब है कि एक ही टाटा का अलग-अलग फाइल में बार-बार जमा होना मतलब की डुप्लीकेट डाटा का फाइल में जमा होना जिससे कि बेकार में ही मेमोरी कंप्यूटर मेमोरी का Use होता है |

Data Inconsistency:- Data Redundancy प्रॉब्लम के कारण यह संभव है कि एक ही प्रकार का डाटा अलग-अलग जगह पर जमा हो रहा हो जिससे दो अलग-अलग फाइलों में जमा होने वाले डाटा का गुण समान प्रकार का नहीं होता है जिससे फाइल डेटा Data Inconsistency की समस्या उत्पन्न हो जाती है |

Difficulty in Accessing Data:- File Based System में डेटा गलत तरीके से फाइल में जमा होता है इसलिए डेटा अलग-अलग फाइलों में बिखरे हुए होते हैं। इस तरह के डाटा को Access करने में काफी कठिनाई होती है |

Limited Data Sharing :- File Based System में DATA अलग-अलग फाइलों में बिखरे हुए होते हैं। इसके अलावा अलग-अलग फाइलों का अलग-अलग प्रारूप/ विभाग हो सकते हैं और इन फाइलों को अलग-अलग फ़ोल्डर्स में संग्रहित किया जा सकता है। इसलिए, इस data isolation (डेटा अलगाव की समस्या उत्पन्न हो जाती है | जिससे Data Sharing (डेटा साझा ) करना मुश्किल हो जाता है |

Security Problems :- फाइल Based सिस्टम में कई Users (उपयोगकर्ताओं) को एक साथ डेटा तक पहुंचने की अनुमति है। यह बेहतर प्रदर्शन और तेज प्रतिक्रिया के लिए है। लेकिन इससे एक समस्या भी उत्पन्न होती है और वह है डाटा Security की समस्या मतलब की User को डेटाबेस सीमित तरीके से सुलभ होना चाहिए प्रत्येक Data User को अपनी आवश्यकताओं से संबंधित डेटा तक पहुंचने की अनुमति दी जानी चाहिए | जिस डाटा की आवश्यकता User को नहीं है उस डाटा तक पहुंचने की अनुमति उसे नहीं मिलनी चाहिए |

ऊपर लिखे | File Based System में जितनी भी समस्याएं हैं उन सभी समस्याओं के समाधान के लिए ही DBMS मतलब कि डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम(Database Management System ) का निर्माण हुआ |

डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम(Database Management System ) या DBMS ऊपर लिखे सभी समस्याओं को जैसे कि Data Redundancy, Data Inconsistency , Difficulty in Accessing Data , Limited Data Sharing, Security Problems आदि का संपूर्ण समाधान समाधान है | DBMS क्या है ? और इसकी विशेषताओं के बारे में हम अगले पाठ में विस्तार से पढ़ेंगे |