Class Selector In Hindi:-

Class selector : जब हम नहीं चाहते कि सारे HTML Tag पर एक ही गुण समान रुप से लागू हो जाए तब हम Class Selector का उपयोग करते हैं |

हम Class Selector में CSS का गुण लगा देते हैं और जिस HTML Tag में उस Class Selector को जोड़ देते हैं उस tag में class का सारा गुण लग जाता है |

<HTML>
 <HEAD>
   <TITLE> New Document </TITLE> 
   <style>
       .first {
           background-color:red;
           color:black;
          }
     </style>
 </HEAD>
 <BODY> 
  <p  class="first">Welcome To Web3tutorial.com </p>
  <p>Learn To make website in hindi. </p>
  </BODY>
 </HTML>

ऊपर के उदाहरण में आपने देखा कि हमने पहले वाले <p> Tag के साथ calss [<p class=”first”>] लगा दिया है इसी कारण सिर्फ उसी <p> Tag के पीछे का रंग बदला और बाकी दूसरे <p> Tag में कोई परिवर्तन नहीं हुआ | इस तरह से हम Class Selector का उपयोग कर सकते हैं |

लेकिन किसी HTML Tag का CSS लिखना और किसी Class Selector का CSS लिखने में थोड़ा सा अंतर है जब हम किसी HTML Tag का CSS लिखते है हैं तो हम सिर्फ उस Tag का नाम लिखकर { के अंदर CSS के Property और Value लिखना शुरु कर देते हैं लेकिन जब हम Class Selector में CSS Value लिखते हैं तब हमें उस Class के नाम के आगे DOT . चिन्ह लगाना होता है तभी उस क्लास में लिखे CSS के गुण मान्य होते है |

<HTML>
 <HEAD>
   <TITLE> New Document </TITLE> 
   <style>
       .myclass {
           color:green;
           text-align:center;
          }
     </style>
 </HEAD>
 <BODY> 
   <p  class="myclass">Welcome To Web3tutorial.com </p>
   <h1 class="myclass">HTML In Hindi By web3tutorial.com </h1>
   <h5 class="myclass">HTML In Hindi By web3tutorial.com </h5>
   <p>Learn To make website in hindi. </p>
  </BODY>
 </HTML>

[NOTE :- text-align:center; की मदद से हम किसी शब्द या वाक्य को Web-Page के बीच में लिख सकते हैं जब आप Code को चला कर देखेंगे तो खुद समझ जाएंगे | ]

ऊपर के उदाहरण में आपने देखा कि हमने myclass नाम के एक Class को किस तरह से DOT . चिह्न की मदद से Define किया है और एक ही नाम के Class को एक <p> Tag के अंदर , <h1> Tag और <h6> Tag के अंदर Use किया है |

Next:- ID Selector In Hindi :-