Downlaod or Watch Online All Bollywood Hindi Movies At webonstar.xyz




Compiler,Linker,Syntax and Semantic Errors In Hindi?

एक program के code लिखने से लेकर उसको चलाकर output प्राप्त करने तक की प्रक्रिया कई चरणों से होकर गुजरते है ये पुरे प्रक्रिया निम्नलिखित है :-

  • Program के code को compiler से compile करना
  • अगर program के code compile ना हो सके तो Syntax error और Semantic Errors की जाँच करके उसे फिर से compile करना
  • Linker से program के सभी modules को एक साथ attache करना या linked करना |
  • उस के बाद program को चलाकर या RUN करबा कर output प्राप्त करना |

 

आयें अब इस पुरे प्रक्रिया को में उत्पन होने बाले कुछ प्रश्नों पर चर्चा करते है जैसे

प्रश्न 1) compiler क्या है ?इसका क्या काम है ?

प्रश्न 2) Syntax error और Semantic Errors क्या है ?

प्रश्न 3) Linker क्या है ?

 

अब इन प्रश्नों के उत्तर :-

प्रश्न 1) compiler क्या है ? इसका क्या काम है ?

उत्तर:-

ये Higher level language(हायर लेवल लैंग्वेज) program(प्रोग्राम) के code(कोड) को मशीन की भाषा में बदलने का काम करते है | सभी हायर लेवल लैंग्वेज के code execute होकर सही output दे इससे पहले उनको compiler मशीन की भाषा(binary language) में बदलता है ताकि कंप्यूटर उसे समझ सके लेकिन ये बदलाब तभी संभब है जब की हायर लेवल लैंग्वेज में लिखे प्रोग्राम के code में कोइ गलती या Syntax error(Syntax error के बारे में बाद में आगे बिस्तार से पदेंगे) ना हो |

सभी Higher level language(हायर लेवल लैंग्वेज) के अपने अलग-अलग compiler होते है जैसे c और c++ के compiler है Turbo C++ और Bloodshed Dev-Cpp आदि | इन compilers को फ्री में Download किया जा सकता है |

 

प्रश्न 2) Syntax error और Semantic Errors क्या है ?

उत्तर :-

Syntax error:- जिस प्रकार हर भाषा की एक ब्याकरण(grammar)

होते है उसी तरह हर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की grammar को syntax(सिंटेक्स) कहते है हम जब भी कोई program के code लिखते है तो ये जरुरी होता है की उस के syntax(सिंटेक्स) में कोई जलती ना हो | याद रहे अगर prorgam में कोई में syntax error हुआ मतलब syntax(सिंटेक्स) में कोई जलती है तो कभी भी program compile नहीं हो होगा |

 

Semantic Errors :- जब हम program के code को Compile करते है तो हो सकता है की हमें warning(वार्निंग) की तरह कुछ मेसेज स्क्रीन पर देखाई दे |ये तब होता है जब program में हमने कुछ ऐसे वेरिएबल(variable) या statement(बाक्य) लिखा है जिसका कोइ जरुरत नहीं है |

हम Semantic Errors के साथ भी program को RUN करबा सकते है लेकिन ठीक होता है अगर हम इन गलतीयों को ठीक कर ले तब program RUN करबाऐ |

 

प्रश्न 3)Linker क्या है ?

उत्तर :-जब हम कोइ बड़ा program लिखते है तो ये हो सकता है की पूरा program कई सरे छोटे-छोटे modules में बटे होते है ये modules अलग-अलग compile भी हो सकते है इसलिय program को Run करने से पहले इन सभी modules को एक साथ जोरना या attache करना या linked करना होता है |

 

 

 

Next :- First C Program In Hindi